Tuesday, 16 January 2018

भाजपा नेता ने डीटीओ को सरेआम मारा थप्पड़

झारखंड: लातेहार में भाजपा नेता ने नेम प्लेट हटवा रहे डीटीओ को सरेआम मारा थप्पड़
.
लातेहार. भाजपा नेता सह जिला 20 सूत्री कार्यक्रम के जिला उपाध्यक्ष राजधनी प्रसाद यादव ने मंगलवार को सरेआम जिला परिवहन पदाधिकारी फिलबियूस बाखला की पिटायी कर दी. जानकारी के अनुसार जिला परिवहन पदाधिकारी श्री बाखला अपने अधीनस्थ कर्मचारियों के द्वारा समाहरणालय परिसर में लगी जिला 20 सूत्री उपाध्यक्ष श्री यादव के वाहन से उनका नेम प्लेट हटवा रहे थे. इसी क्रम में किसी कार्यकर्ता ने श्री यादव को इसकी सूचना मोबाइल पर दे दी.

सूचना मिलने के बाद राजधनी प्रसाद अपनी वाहन के पास पहुंचे. वहां खड़े डीटीओ श्री बाखला इससे पहले कुछ समझ पाते कि श्री यादव ने उन पर हाथ चला दिया और कई थप्पड़ रसीद कर दिया. इसके बाद डीटीओ श्री बाखला भी अपने बचाव मे उनसे भीड़ गये. श्री यादव ने डीटीओ से पूछा की आपने 20 सू़त्री उपाध्यक्ष के वाहन का बिना नोटिस दिये नंबर प्लेट क्यूं उतारा, इस पर डीटीओ ने कहा कि अखबार में छपवा दिया था, आपने नहीं पढ़ा. इस पर श्री यादव ने कहने लगे कि अखबार से दुनिया चलता है.

डीटीाओ एफ बारला के आवेदन पर सदर थाना में जिला 20 सू़त्री उपाध्यक्ष राजधनी प्रसाद यादव पर सरकारी काम मे बाधा पहुंचाने एवं मारपीट करने की प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है. प्राथमिकी दर्ज होने के बाद श्री यादव को कड़ी सुरक्षा के बीच मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी मो तौफिक की अदालत में प्रस्तुत किया गया. अदालत ने श्री यादव को 14 दिनो की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.  इससे पहले श्री यादव का सदर अस्पताल में प्राथमिक इलाज कराया गया.

पूर्व में भी डीटीओ से उलझे थे भाजपाई
इससे पहले भी तत्कालीन अनुमंडल पदाधिकारी वरूण रंजन के कार्यकाल में डीटीओ श्री बाखला एवं भाजपाई राजधनी प्रसाद यादव एवं पूर्व जिला अध्यक्ष लाल कौशल नाथ शाहदेव के बीच तीखी नोक झोंक हुई थी. डीटीओ ने भाजपा नेताओं को सड़क के किनारे से वाहन हटाने को कहा था और इस पर भाजपा नेता डीटीओ से भीड़ गये थे.

Saturday, 13 January 2018

नौकरी देकर रघुवर सरकार ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड 27,842 को मिला नौकरी

Skill_Summit_2018 : 25000 से अधिक युवाओं को नौकरी देकर रघुवर सरकार ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड लेकिन 27,842 युवाओं में से सिर्फ 6821 का ही वेतन 10 हजार रुपये से अधिक
.
रांची : झारखंड में चार दिन से चल रही नौकरी की भागमभाग खत्म हो गयी. अब वक्त है एक इतिहास रचने का. रघुवर दास के नेतृत्व में चल रही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार एक अनोखा रिकॉर्ड बनाने की ओर अग्रसर है. सरकार की एक पहल की बदौलत यह राज्य लिम्बा बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज होने जा रहा है. राज्य सरकार ने निजी क्षेत्र में युवाओं को रोजगार दिलाने की पहल की और 25,000 लोगों को नौकरी दिलाने का लक्ष्य रखा. सरकार ने पूरी मशीनरी इस काम में लगा दी. इसका नतीजा यह हुआ कि लक्ष्य से 2842 अधिक लोगों को कंपनियां नियुक्ति पत्र देने के लिए तैयार हैं.
.
खेलगांव में 4 दिन तक चले रोजगार मेला में तकरीबन 60 हजार लोगों ने नौकरी पाने के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवाया और उसमें से 27,842 लोगों को 31 सेक्टर की कंपनियों ने अपने यहां नौकरी देने का फैसला किया. सरकार और सरकार के अधिकारियों के लिए यह बेहद खुशी की बात हो सकती है. लेकिन, जिन लोगों ने इस रोजगार मेले से बहुत ज्यादा उम्मीदें पाली थीं, उनके लिए यह बेहद निराशाजनक भी रहा.
.
झारखंड स्किल डेवलपमेंट मिशन सोसाईटी के वेब पोर्टल ‘हुनर’ (HUNAR : Hallmarking of Unrecognised Novice and Amaetur Resources) पर उपलब्ध आंकड़े बताते हैं कि देश के अलग-अलग भागों की कंपनियों ने 27,842 लोगों को नौकरी देने का फैसला किया है. लेकिन, जिन लोगों ने नौकरी के लिए आवेदन किया या रजिस्ट्रेशन करवाया था, उनके लिए निराशा की बात यह थी कि वेतन बहुत कम मिला. वेबसाईट के मुताबिक, कंपनियों द्वारा सेलेक्ट किये गये 27,842 लोगों में से महज 6,821 लोग ऐसे हैं, जिन्हें 10,000 रुपये से अधिक वेतन मिलेंगे. यानी 21,021 लोगों को 10,000 रुपये से कम वेतन मिलेंगे.
.
राजधानी रांची से सबसे ज्यादा 5,927 लोगों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था. इनमें से महज 1,636 लोगों को 10,000 रुपये से ज्यादा वेतन (प्रति माह) के लायक पाया गया. यह बात और है कि यहां की पूजा कुमारी को सबसे ज्यादा 1,45,000 रुपये प्रति माह वेतन का ऑफर मिला. न्यूनतम वेतन की बात करें, तो बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं, जिन्हें 5,000 से 6,000 रुपये के बीच ही वेतन मिलेंगे.
रांची के बाद पूर्वी सिंहभूम के सबसे ज्यादा 4,903 युवाओं ने रोजगार मेला में अपना पंजीकरण कराया. इनमें से 1,421 लोगों को ही 10,000 रुपये प्रतिमाह से अधिक वेतन मिला है. इसी तरह धनबाद के 2,739 में से 742 लोगों को 10 हजार रुपये से ज्यादा मिलेंगे. बोकारो के 1,447 में से 418, हजाररीबाग के 1,946 में से 462, पलामू के 1,670 में से 122, रामगढ़ के 1,090 में से 259 और सराईकेला-खरसावां के 1,008 में से 201 युवाओं को कंपनियों ने 10 हजार रुपये देना तय किया.
.
पिछड़े इलाकों से कम लोगों ने नौकरी के लिए आवेदन किया. इन्हें पैकेज भी कम ही मिला. चतरा जिले की बात करें, तो यहां से महज 312 लोगों को नौकरी के लिए कंपनियों ने चुना. इनमें से सिर्फ 64 लोगों को 10 हजार रुपये से अधिक के लायक पाया गया. देवघर के 421 में 30 लोगों को, गढ़वा के 510 में से 26 को, गोड्डा के 212 में से 16 को इस लायक पाया गया कि उन्हें 10 हजार रुपये से ज्यादा वेतन दिया जाये. पाकुड़ में महज 129 लोगों ने पंजीकरण कराया और इनमें से सिर्फ 4 को 10 हजार रुपये से अधिक का वेतन मिला.

धौनी टेनिस अकादमी के बच्चों से मिलते हुए.

जेएससीए स्टेडियम रांची में धौनी टेनिस अकादमी के बच्चों से मिलते हुए.
.
धौनी ने टेनिस अकादमी के बच्चों के साथ 15 मिनट तक टेनिस में हाथ आयमाये। उसके बाद उन्होंने अकादमी की प्रतियोगिता में ट्राफी जीतनेवाले खिलाड़ियों को पुरस्कृत किया। धौनी ने टेनिस खिलाड़ियों के साथ फोटो खिंचवाई और कई को ऑटोग्राफ भी दिये।

यह कोई पोस्टर नहीं स्टेडियम है

यह कोई पोस्टर नहीं स्टेडियम है और यह तिरंगा पैंटिंग नहीं  बल्कि देश का सबसे बड़ा ह्यूमन तिरंगा है
.
रांची के सिल्ली स्टेडियम में युवा दिवस पर गूंज परिवार एवं आजसू पार्टी की ओर से स्वामी विवेकानंद को अनोखी श्रद्धान्जलि । 5000 छात्रों ने मानव श्रृंखला से बनाया देश का सबसे बड़ा (10,000 Sqft) तिरंगा ।

Friday, 12 January 2018

झारखण्ड के हजारीबाग का एक खूबसूरत दृश्य

झारखण्ड के हजारीबाग का एक खूबसूरत दृश्य

यह हैरतअंगेज क्रेटर जैसी रचना किसी बाहरी देश मे नही बल्कि खुद हमारे अपने झारखंड राज्य में है। हज़ारीबाग़ के दक्षिणी पश्चिम इलाके में बड़कागांव से करीब 25 - 30 किलोमीटर आगे महूदि पर्वत श्रृंखला है, यह क्रेटर उन्ही पहाड़ों के बीच स्थित है, जानकारों की माने तो यह क्रेटर डुमारों नदी का उद्गम स्थल भी है जो दामोदर नदी में जा कर मिलती है। इस विहंगम क्रेटर के पास कुछ पुराने मंदिर भी हैं जो कि मौर्य काल के माने जाते हैं।

मजदूर का बेटा उसैन बोल्ट के क्लब में लेगा ट्रेनिंग

मजदूर का बेटा जाएगा जमैका, वर्ल्ड के सबसे तेज रनर उसैन बोल्ट के क्लब में लेगा ट्रेनिंग

.
जैंतगढ़(झारखंड).विश्व के सबसे तेज धावक उसैन बोल्ट के क्लब में प्रशिक्षण के लिए कृष्णा मुंडा का चयन किया गया है। कृष्णा भुवनेश्वर क्रीड़ा छात्रावास के विद्यार्थी है। उसके माता-पिता ने कहा कि जमैका के किंग्स्टन में स्थित प्रसिद्ध रेसर्स ट्रैक क्लब में उसका प्रशिक्षण होगा। चंपुआ प्रखंड के आदिवासी गांव मिरीगसिंगा में कृष्ण का जन्म 1995 में हुआ था। पिता कान्हू मुंडा व मां बुधनी मुंडा की 9 संतान में कृष्णा 5वां है।

मजदूर का बेटा जाएगा जमैका

- कृष्णा की प्रारंभिक शिक्षा गांव के प्राथमिक विद्यालय में हुई थी। पांचवीं तक पढ़ने के बाद वह गांव से 4 किमी दूर चिमड़ा गांव स्थित नोडल प्राथमिक विद्यालय चला गया। कक्षा 6 में पहुंचने के बाद ही उसकी खेल प्रतिभा उभर कर सामने आई।

- 7वीं कक्षा में आने के वाद विद्यालय के शिक्षक सुब्रत मोहंती ने उसकी खेल प्रतिभा को देखते हुए उसे भुवनेश्वर के क्रीड़ा हॉस्टल में एडमिशन कराने की सलाह दी। उसे उस हॉस्टल में एडमिशन के लिए चयन कर लिया गया।

- 2013 में राष्ट्रीय स्कूल प्रतियोगिता में 200, व 400 मीटर दौड़ में उसने स्वर्ण पदक प्राप्त किया था। 2016 में गेल द्वारा आयोजित प्रतिभा खोज प्रतियोगिता में उसे सफलता मिली। इसी सफलता ने कृष्णा को जमैका जाने का रास्ता प्रशस्त किया। मेहनत मजदूरी करके पेट पालने वाले कान्हू मुंडा के पुत्र कृष्णा मुंडा आज क्षेत्र के लिए गौरव बन गया है।

800 रुपये में आसमान से प्राकृतिक सौंदर्य को निहारने का मौका

800 रुपये में आसमान से झारखंड की प्राकृतिक सौंदर्य को निहारने का मौका
.
अगर आपने कभी आसमान में उड़ने का सपना देखा है और आर्थिक कारणों से इसे पूरा नहीं कर पाए हों तो अब तैयार हो जाइए, आपके आगे पैसे का पहाड़ छोटा होगा। सरकार ने 800 रुपये में दस मिनट की उड़ान की योजना को स्वीकृति देते हुए अधिसूचना जारी कर दी है। ज्वॉय राइड योजना की शुरुआत उपराजधानी दुमका से होगी, जहां से लोग ग्लाइडर से उड़ने का आनंद उठा सकेंगे।

इस योजना से निम्न मध्यम वर्ग के लोग सर्वाधिक लाभान्वित होंगे। आसमान से झारखंड की प्राकृतिक सौंदर्य को निहारने का मौका लोगों को मिलेगा। महज आठ सौ रुपये में मोटर ग्लाइडर तथा तीन सौ में ग्लाइडर से हवा में उड़ने का संकल्प पूरा होगा। परिवहन (नागर विमानन) विभाग के अंतर्गत झारखंड उड्डयन संस्थान के ग्लाइडिंग अनुभाग की शाखा दुमका से अब आम लोग भी ग्लाइडर उड़ान का मजा ले सकेंगे। राज्य सरकार ने 9 जनवरी को अधिसूचना जारी कर उड़ान शुल्क दर का निर्धारण किया है। दुमका स्थित ग्लाइडिंग बेस से ज्वॉय राइड से झारखंड के इस इलाके में न सिर्फ पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा बल्कि सरकार राजस्व भी प्राप्त कर सकेगी।
.
मोटर ग्लाइडर उड़ान के लिए शुल्क

1. दुमका के अंतर्गत प्रति दस मिनट के उड़ान के 800 रुपये लिए प्रति व्यक्ति का शुल्क

2. दुमका क्षेत्र से 5एनएम की उडान के लिए प्रति व्यक्ति 1000 रुपये का शुल्क

3. दुमका से 10 एनएम एरियल व्यू उड़ान के लिए प्रति 2000 रुपये

ग्लाइडर उड़ान के लिए शुल्क

1. दुमका क्षेत्र के अंतर्गत ग्लइडिंग उडान के लिए प्रति 300 रुपये प्रति व्यक्ति प्रति लांच का शुल्क

2. दुमका से ग्लाइडर सोरिग के लिए 20 मिनट उड़ान के लिए 600 रुपये प्रति व्यक्ति प्रति लांच का शुल्क।

वेतन सुनकर बोला युवक : अचार बेचकर इससे ज्यादा कमा लेंगे

Skill Summit 2018 : खेलगांव में नौकरी की 'दौड़', वेतन सुनकर बोला युवक : अचार बेचकर इससे ज्यादा कमा लेंगे
 झारखंड की राजधानी रांची में स्थित है खूबसूरत खेलगांव. खेलगांव में इन दिनों काफी हलचल है. कई विभागों के सचिवों के साथ-साथ अलग-अलग जिलों के उपायुक्तों, बीडीओ, एसडीपीओ और कौशल विकास विभाग के अन्य अधिकारियों की गाड़ियां लगातार आ रही हैं, जा रही हैं. बसों में भर-भरकर युवा रोजगार की आस में खेलगांव पहुंच रहे हैं.

.
कौशल विकास योजना के तहत प्रशिक्षण केंद्र का संचालन करने वाले संगठनों के अलावा राज्य में संचालित कॉलेज भी लोगों को खेलगांव भेज रहे हैं. लोग उज्ज्वल भविष्य का सपना लेकर यहां आ रहे हैं. घंटों लाईन लगा रहे हैं, रजिस्ट्रेशन करवाकर इंटरव्यू दे रहे हैं. जब हकीकत से सामना होता है, तो उनकी सारी उम्मीदों पर पानी फिर जाता है.
.
खेलगांव में गुरुवार को कई युवा मिले, जो इस उम्मीद से यहां पहुंचे कि मल्टीनेशनल कंपनियों में उन्हें रोजगार मिलेगा. मोटा पैकेज मिलेगा. अपने राज्य में, अपने लोगों के बीच रहेंगे. काम करेंगे. वेतन थोड़ा कम भी मिले, तो भी चलेगा. लेकिन, ऑफर सुना, तो निराश हो गये. चक्रधरपुर के जेएलएन कॉलेज से बीबीए करने वाले इसलाम शेख ने जब सुना कि कंपनियां 8 से 15 हजार रुपये के बीच वेतन दे रही हैं, तो उन्होंने कहा कि इतना तो अचार बेचकर कमा लेंगे. इसके लिए घर छोड़कर दूसरे राज्य में जाने की क्या जरूरत है.
.
जमशेदपुर के करीम सिटी कॉलेज से बीबीए और राउरकेला के रिम्स से एमबीए की पढ़ाई करने वाले शाहबाज की समस्या अलग है. उन्होंने एमबीए की डिग्री ली है, लेकिन उनकी यह डिग्री यहां मान्य नहीं है. उन्हें बताया गया कि ओड़िशा की यह डिग्री झारखंड में मान्य नहीं है. हालांकि, उन्होंने मैट्रिक, इंटर और ग्रेजुएशन की पढ़ाई झारखंड से पूरी की है. शाहबाज की तरह शादाब अहमद ने भी एमबीए की पढ़ाई की है. उनके साथ भी यही समस्या है. एमबीए की पढ़ाई पूरी करने के बावजूद अपनी योग्यता उन्हें बीबीए ही लिखनी पड़ी. शादाब कहते हैं कि यदि उन्होंने ओड़िशा से एमबीए की पढ़ाई की, तो इसकी वजह झारखंड की सरकार ही है. यदि झारखंड में उच्च शिक्षा की उचित व्यवस्था होती, तो उन्हें ओड़िशा का रुख नहीं करना पड़ता.
.
शादाब कहते हैं कि वह झारखंड में ही 22 हजार रुपये कमा रहे हैं. 10-15 हजार रुपये के लिए किसी और राज्य में क्यों जायेंगे? शादाब हों, शाहबाज या इसलाम. सबने यही कहा कि कॉलेज की मदद से वे लोग रांची तो आ गये, लेकिन यहां आकर उन्हें काफी निराशा हुई. इन लोगों ने कहा कि झारखंड सरकार के इस आयोजन से कंपनियां लाभान्वित हुई हैं, झारखंड के बेरोजगार नहीं.
.
इनके मुताबिक, यदि 8,000 या 10,000 रुपये की नौकरी करनी हो, तो फिर उच्च शिक्षा लेने की क्या जरूरत है. रांची का एक ऑटो चालक महीने का 15 से 20 हजार रुपये कमा लेता है. यह आयोजन कंपनियों की मदद करने के लिए है. कंपनियों को मुफ्त में जगह मिल गयी, उनका प्रचार भी मुफ्त में हो गया और उन्हें किसी कंपनी को कंसल्टेंसी फीस भी नहीं देनी पड़ी. लेकिन, जिन लोगों के नाम पर इतना बड़ा आयोजन किया गया, उन्हें कोई खास लाभ नहीं हुआ.

Thursday, 11 January 2018

महिला ने दिया 6 बच्चों को जन्म


पलामू जिला मुख्यालय स्थित मेदिनीनगर सेवा सदन अस्पताल में गुरूवार को एक महिला ने एक साथ 6 बच्चों को जन्म दिया.  हालांकि जन्म लेते ही सभी बच्चों की मौत गई. महिला गढ़वा जिला के खरसावाँ गाँव के अशोक यादव की पत्नी है.बच्चों की मौत की कारण परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है-

टूरिस्ट बस ने सड़क किनारे खड़े ट्रक को जोरदार टक्कर मार दी


दुमका (झारखंड)।तालझारी थाना क्षेत्र के जरदाहा काजू पहाड़ के समीप यात्रियों से भरी एक टूरिस्ट बस ने सड़क किनारे खड़े ट्रक को जोरदार टक्कर मार दी। हादसे में 12 यात्री घायल हो गए। हादसा गुरुवार की सुबह घने कोहरे की वजह से हुआ। बस ड्राइवर कोहरे की वजह से ट्रक को देख ना सका और उसकी टक्कर हो गई। दुर्घटना में घायल सभी यात्री देवघर सत्संगनगर स्थित अनुकूल ठाकुर आश्रम के अनुयायी हैं।

60वें जन्म दिवस पर पार्टी ने केट काटकर व गुलदस्ता भेंट

झारखंड विकास मोर्चा सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी के 60वें जन्म दिवस पर पार्टी ने केट काटकर व गुलदस्ता भेंट कर लंबी अायु की कामना की।

EX CM बाबूलाल मरांडी ने कहा- जीवन के अंतिम सांस तक झारखंड के लिए कार्य करता रहूंगा

शिमला से ज्यादा कड़ाकेदार ठंड जम रही है बर्फ

रांची में पड़ रही है शिमला से ज्यादा कड़ाकेदार ठंड,  ऐसे जम रही है बर्फ जम रही है बर्फ
.
झारखंड में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। इसी वजह से गुरुवार सुबह रांची जिले के कांके में पारा जीरो डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया गया। खेत-खलियान और पानी के पाइप पर गिरी ओस की बूंदें बर्फ बन गई। मैक्लुस्कीगंज में भी जीरो डिग्री तापमान रिकॉर्ड दर्ज किया गया। खूंटी जिले के तोरपा में भी ऐसा ही हाल दिखा। ओस की बूंदें जम गई।

मौसम केंद्र के अनुसार, 15 जनवरी तक ठंड से राहत मिलने की उम्मीद कम है। उसके बाद ठंड से कुछ राहत मिल सकती है।

मूलवासी संगठनों ने कहा, मुख्यमंत्री को बर्खास्त करो

आदिवासी, मूलवासी संगठनों ने कहा, मुख्यमंत्री को बर्खास्त करो, पुलिस ने कर लिया गिरफ्तार
.
रांची : झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ नारेबाजी और सीएम को बर्खास्त करने की मांग करने वाले आदिवासी, मूलवासी संगठनों के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. संगठनों ने झारखंड लोक सेवा आयोग (जेपीएससी) और झारखंड कर्मचारी चयन आयोग (जेएसससी) की परीक्षाओं में आरक्षण नहीं देने का आरोप लगाते हुए झारखंड बंद बुलाया था और सरकार एवं मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे.

हालांकि, रांची में बंद का वैसा असर नहीं दिखा, जैसा संगठनों के लोगों ने दावा किया था. राजधानी की सड़कों पर यातायात सामान्य रहा. दुकानें और सरकारी एवं निजी कार्यालय भी आम दिनों की तरह खुले. बंद से निबटने के लिए पुलिस और प्रशासन ने व्यापक तैयारी कर रखी थी. 700 अतिरिक्त सुरक्षा बलों को जगह-जगह सुरक्षा में तैनात हैं. सुरक्षा बलों से कहा गया है कि कोई भी कानून-व्यवस्था बिगाड़ने की कोशिश करे, तो उससे सख्ती से निबटा जाये.