योगी सरकार की खुली पोल - Live Now 24x7

Breaking

Wednesday, 26 April 2017

योगी सरकार की खुली पोल

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को प्रदेश की योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा और कहा कि भारतीय जनता पार्टी भाजपा के शासन में भगवा वस्त्र पहनने वालों को पुलिस की पिटाई करने और थानों पर बलवा करने का लाइसेंस मिल गया है। उन्होंने कहा कि योगी सरकार की पोल एक महीने में ही खुल गई है।
उन्होंने कहा कि आगरा और सहारनपुर की घटनाएं क्या भाजपा को नहीं दिखाई दे रही? इलाहाबाद में बेटियों का सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद पूरे परिवार को मार डाला गया। भगवा वस्त्र पहनने वालों को पुलिस की पिटाई करने और थानों पर बलवा करने का लाइसेंस मिल गया है और देश की आजादी के बाद पुलिस के साथ ऐसा व्यवहार पहले कभी नहीं हुआ।
संवाददाताओं से बातचीत में सूबे की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए अखिलेश ने कहा, "कानून-व्यवस्था बड़ा सवाल है। चूंकि सरकार नई बनी है, इसलिए उस पर हम कुछ कहना नहीं चाहते थे, लेकिन आगरा और सहरानपुर की घटनाएं खुद में सवाल खड़ा करती है।" उन्होंने कहा, "क्या आगरा में पुलिस ने किसी घटना पर कार्रवाई की? एक थाने में पकड़े गए लोगों को छोड़ने का दबाव बनाया गया। पुलिस जब मामले को दूसरे थाने ले गई तो उस थाने में घुसकर पुलिस के साथ जो व्यवहार हुआ, वैसा आजादी के बाद पुलिस के साथ पहले कभी नहीं हुआ होगा।"
उन्होंने कहा, "सपा सरकार में झूठे बदायूं मामले को तो बहुत उछाला गया था। टीवी, कैमरा, प्रेस, राजनीतिक दल सब पहुंच गए थे। लेकिन योगी शासन में इलाहाबाद में बेटियों का सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद पूरे परिवार को मार डाला गया। इस घटना को भी मीडिया उसी तरह क्यों नहीं दिखाता?" अखिलेश ने कहा कि सहारनपुर में हुए दो समुदायों के बीच हुए संघर्ष के मामले में सपा की जांच टीम ने अपनी रिपोर्ट तैयार कर ली है। इस बारे में मीडिया को बुधवार को विस्तार से बताया जाएगा।
उन्होंने कहा कि इस घटना में कुछ लोगों को बचाने के लिए केवल खानापूर्ति करने के लिए मुकदमे दर्ज हुए हैं। कानून व्यवस्था पर तंज कसते हुए अखिलेश ने कहा कि आजकल भगवा रुमाल रख लेना ही सत्ता के लिए काफी है। थानों में भी भगवा अंगोछों की पहुंच बढ़ गई है। इससे पहले, महिला कार्यकर्ताओं द्वारा आयोजित सपा के सदस्यता अभियान में पहुंचे अखिलेश ने कहा कि समाजवादी पेंशन पाने वाली हर महिला को सपा की सदस्यता दिलाएं, इससे सीधी तौर पर उप्र में 50 लाख महिला कार्यकर्ता हो जाएंगी।
उन्होंने कहा, "महिलाओं की ताकत को कम नहीं आंकना चाहिए। आधी दुनिया इन्हीं की है। घर से लेकर सरकार तक यही चलाती हैं। महिलाएं बहुत ही संवेदनशील होती हैं और वे जिसके साथ जुड़ती हैं तो दिल से जुड़ती हैं। ऐसे में राजनीति में महिलाओं की भूमिका बहुत ही अहम हो जाती है।"
कार्यक्रम में सांसद डिंपल यादव ने कहा, "महिलाओं को अपनी ताकत पहचाननी चाहिए। समाजवादी पार्टी ने हमेशा महिलाओं का सम्मान किया है। उन्हें सबसे ज्यादा टिकट दिया है। अधिक से अधिक पदों पर महिलाओं को रखा। यही कारण है कि महिलाओं का सपा पर सबसे ज्यादा विश्वास है।"उन्होंने सदस्यता अभियान को सफल बनाने की अपील की। सिने स्टार जया बच्चन ने कहा कि महिलाओं का उचित सम्मान सपा में ही है और उन्हें पार्टी में हमेशा बनी रहना चाहिए।