जमशेदपुर में जम्मू कश्मीर जैसी हालत बच्चा चोर के कारण - Live Now 24x7

Breaking

Saturday, 20 May 2017

जमशेदपुर में जम्मू कश्मीर जैसी हालत बच्चा चोर के कारण

जमशेदपुर : राजनगर में बच्चा चोर के आरोप में मारे गये चार लोगों के मामले में शनिवार को जमशेदपुर में कई जगह हिंसा हुई. घटना के विरोध में प्रदर्शन कर रहे लोगों के उग्र हो जाने के कारण धातकीडीह और मानगो में कई जगह पुलिस को भीड़ पर काबू पाने के लिए लाठीचार्ज, हवाई फायरिंग, आंसू गैस और पथराव का सहारा लेना पड़ा. उग्र लोगों की ओर से किये गये पथराव में आधा दर्जन से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. जबकि भीड़ ने मानगो थाना के अंदर घुसकर भी तोड़फोड़ की.

मिली जानकारी के अनुसार, सुबह साढ़े आठ बजे धातकीडीह में लोगों ने टायर जलाकर रोड जाम कर दिया. पीसीआर डीएसपी जब दल-बल के साथ वहां पहुंचे तो उन पर जाम कर रहे लोगों ने पथराव कर दिया. उनकी गाड़ी तोड़ दी गयी. बिष्टुपुर थाना प्रभारी के वाहन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया. थोड़ी देर बाद सिटी एसपी प्रशांत आनंद भी वहां पहुंचे, उन पर भी लोगों ने पथराव कर दिया. धातकीडीह टीओपी को भी तहस-नहस कर दिया गया. फोर्स की कमी के कारण पुलिस को पीछे हटना पड़ा और वह जुस्को गोलचक्कर के पास आ गयी. कुछ स्थानीय लोगों की मध्यस्थता के बाद लोगों ने जाम हटाया और हालात पर काबू पाया जा सका.



दूसरी ओर, शनिवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे मानगो के जाकिर नगर और ओल्ड पुरुलिया रोड में लोग इकट्ठा होने लगे. ओल्ड पुरुलिया रोड में जहां पेट्रोल पंप बंद कराने की कोशिश के दौरान झड़प हुई, वहीं पुलिस ने जाकिरनगर रोड नंबर एक और दो में भड़काऊ नारे लगा रहे लोगों को पहले खदेड़ा. जिसके बाद सवा नौ बजे सभी बारी मसजिद के पास इकट्ठा होने लगे. वहां 400 से 500 लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गयी. मौके पर पहुंचे डीएसपी केएन मिश्रा के साथ भीड़ ने धक्का मुक्की की और पुलिस को धकेलते हुए भीड़ पायल टाॅकिज के पास तक पहुंच गयी. करीब सवा दस बजे एसएसपी अनूप टी मैथ्यू के पहुंचने के बाद पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज कर दिया. थोड़ी देर बाद भीड़ में से कुछ उग्र लोगों ने मानगो थाना के अंदर घुसकर तोड़फोड़ कर दी और थाना जीप को उलट दिया. इस बीच आजादनगर के रोड नंबर एक से उग्र लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया. तभी रैफ ने मोर्चा संभाल लिया और पथराव कर रहे लोगों को पथराव और आंसू गैस के गोले छोड़ खदेड़ा गया. पथराव में उलीडीह थाना प्रभारी मुकेश चौधरी सहित दो पुलिसकर्मी घायल हो गये. रैफ के जवानों ने भीड़ को चेपा पुल तक खदेड़ दिया और हालात पर काबू पाया. लेकिन तभी दूसरे गुट के लोगों ने इकट्ठा होकर मुंशी मोहल्ला पर पथराव कर दिया. कई दुकानों को नुकसान पहुंचाया गया. जिसके बाद यहां भी पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा.

क्या है मामला

दो दिन पहले राजनगर के शोभापुर व पदनामसाई गांव में बच्चा चोर के आरोप में चार लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी गयी थी. यह सभी एक ही समुदाय से जुड़े थे. मारे गये लोगों के परिजनों को मुआवजा व दोषियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मुसलिम एकता मंच की ओर से शनिवार को मानव श्रृंखला निकालने की तैयारी की गयी थी. साथ ही दुकानों को बंद रखने की घोषणा की गयी थी. शनिवार को सुबह से ही कई जगह लोग इकट्ठा होने लगे थे. लेकिन भीड़ के उग्र हो जाने के कारण हिंसा फैल गयी.
एसएसपी ने कहा, दोषियों को कर रहे हैं चिह्नित

जमशेदपुर के एसएसपी अनूप टी मैथ्यू ने कहा है कि कहीं बच्चा चोरी की घटना नहीं हुई है. कुछ लोग सोशल मीडिया के माध्यम से अफवाह फैला रहे हैं. उन्होंने कहा है कि हमने अफवाह फैलाने वालों को चिह्नित करने का काम शुरू किया है. उन्होंने ग्रामीणों से अपील की है कि वे शांति से रहें और बच्चा चोर की अफवाह में उन्हें गांव में पहरा देने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा है दोषियों को कड़ी सजा दी जायेगी.

No comments:

Post a Comment