पाकिस्तान की बर्बरता का पूर्व सैनिक की पत्नी ने अनोखे ढंग से जताया विरोध - Live Now 24x7

खबरें जो सच बोले

Breaking

Thursday, 11 May 2017

पाकिस्तान की बर्बरता का पूर्व सैनिक की पत्नी ने अनोखे ढंग से जताया विरोध

बार्डर पर पाकिस्तान की बर्बरता का पूर्व सैनिक की पत्नी ने अनोखे ढंग से विरोध जताया है। जानिए आखिर क्यों किया महिला ने ऐसा।
  मामला हरियाणा के फतेहाबाद का है। वजह बताई जा रही है, सैनिकों के शवों के साथ पाकिस्तान की ओर से की गई बर्बरता। बार्डर पर बीते दिनों में सैनिकों के साथ हो रही दरिंदगी से जिले के एक पूर्व सैनिक का परिवार इस कदर गुस्से में आ गया है कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सैनिक बोर्ड के मार्फत चुनाव से पूर्व उनके द्वारा किए गए वादों की याद दिलाते हुए 56 इंच के अंतर्वस्‍त्र भेज दिए है। फतेहाबाद जिले के पूर्व सैनिक धर्मवीर काजला और उनकी पत्नी सुमन ने वीरवार को अंतर्वस्‍त्र के साथ साथ एक ज्ञापन भी भेजा है, जिसमें उन्हें याद दिलाया गया है कि चुनाव से पहले जब मथुरा के हेमराज का सर काटकर पाकिस्तानी सैनिक ले गए थे तो उन्होंने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर तंज कसा था कि पाकिस्तान को लव लैटर भेजने से कुछ नहीं होगा, उसे उसी की जुबान में जवाब देना होगा। सुमन ने जैसे ही जिला सैनिक बोर्ड के अधिकारियों के सामने अंतर्वस्‍त्र और ज्ञापन रखा गया, सैनिक बोर्ड के अधिकारी सकते में आ गए और एक बारगी तो उन्होंने चोली को साइड में रख दिया लेकिन सुमन के साथ मौजूद उनके पति और पूर्व सैनिक धर्मवीर काजला ने जब इसका विरोध किया तो पूरा ज्ञापन पढऩे के बाद अधिकारियों ने ज्ञापन और अंतर्वस्‍त्र प्रधानमंत्री कार्यालय तक भेजने का आश्वासन दिया। इस पूरे वाक्ये के दौरान जिला सैनिक बोर्ड में अधिकारियों और कर्मचारियों के अलावा वहां पर आए हुए लोगों में भी पूरे वाक्ये को देखने की होड़ लग गई। बाद में मीडिया से बातचीत करते हुए पूर्व सैनिक धर्मवीर काजला एवं उनकी पत्नी सुमन ने कहा कि पूर्व सैनिक होने के नाते हमारा खून खौल उठता है जब सीमा पर हमारे जवानों के साथ दरिंदगी होती है। दुश्मन सैनिक उनकी हत्या कर उनके सिर काट कर ले जाते हैं। सुमन ने कहा कि कश्मीर में बंदूक हाथ में होने के बावजूद सेना के जवान कुछ नहीं कर पाते। ऐसे में दिल्ली में बैठे मंत्री और प्रधानमंत्री सिर्फ कड़ी निंदा का बम फोड़कर अपने कर्तव्य की इतिश्री मान लेते हैं। ऐसा नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज प्रधानमंत्री को 56 इंच के अंतर्वस्‍त्र भेजकर हमने उनके वादे की याद दिलाई है कि उन्हें अब ५६ इंच की छाती को दुश्मन देश को दिखाओ और सेना को कार्यवाही के अधिकार दो।

No comments:

Post a Comment