केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने राज्य के सबसे लंबे पुल की रखी नींव - Live Now 24x7

Breaking

Friday, 22 September 2017

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने राज्य के सबसे लंबे पुल की रखी नींव

उप राजधानी को सौगात: केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने राज्य के सबसे लंबे पुल की रखी नींव, थपथपाई मुख्यमंत्री रघुवर दास की पीठ
.दुमका (झारखंड)। झारखंड में रघुवर सरकार के शुक्रवार को 1000 दिन पूरे हो गए। इसको लेकर 11 सितंबर से चल रहे कार्यक्रम का उप राजधानी दुमका में समापन हुआ। इस मौके पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह राज्य के सबसे लंबे पुल की आधारशिला रखी। मयूराक्षी नदी पर कुम्हराबाद-मकरमपुर के बीच बनने वाला यह पुल दो किलाेमीटर लंबा होगा। इस पर 194 करोड़ रुपए खर्च होंगे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री रघुवर दास, सभी मंत्री-विधायक मौजूद रहे।
.
झारखंड में 1000 दिन पूरा करने वाली पहली सरकार के मुखिया रघुवर दास की पीठ आज केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी थपथपाई. इससे पहले 15 से 17 सितंबर तक झारखंड के दौरे पर आये भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी मुख्यमंत्री रघुवर दास की जमकर तारीफ की थी. उन्होंने दास को करिश्माई मुख्यमंत्री बताया और कहा कि उनके नेतृत्व में राज्य में स्थिरता आयी है और विभिन्न पायदान पर राज्य ने उल्लेखनीय वृद्धि हासिल की है.
.
राजनाथ सिंह ने रघुवर सरकार के 1000 दिन पूरा करने पर मुख्मंत्री को शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा- झारखंड में ना तो मानव संसाधन की कमी है और ना ही प्राकृतिक संसाधन की। जब मैं आकड़े देखता हूं तो काफी खुशी होती है। क्योंकि सबसे ज्यादा तेजी से विकास करने वाले राज्यों में झारखंड दूसरे नंबर पर आ गया है। झारखंड, हिन्दुस्तान का विकसित राज्य है। विदेशों से लोग यहां आकर पूंजी लगा रहे हैं। ऐसा कभी नहीं लोगों ने सोचा होगा। बिजनेस करने के लिए हिन्दुस्तान में झारखंड का पहले 29वां स्थान था। अब ये सातवें पायदान पर आ गया है। झारखंड विकास के पथ पर आगे बढ़ रहा है।

उन्होंने कहा- पहले की सरकार में भष्ट्राचार के कई आरोप लगे। पर हमारे ऊपर किसी प्रकार का आरोप नहीं लगा। ये कोई छोटी बात नहीं है। राज्यों का विकास होगा तभी देश का विकास होगा। भारत का मस्तक सारे दुनिया में ऊंचा है। 30 करोड़ खाते बैंक में खुले, वो हमारी सरकार ने किया। ताकि गरीबों को लाभ हो।
राजनाथ सिंह ने कहा- नक्सलवादी बंदूक छोड़े। हम चाहते हैं विकास हो। नक्सलवादी गरीबों और आदिवासियों के बच्चों के हाथों में बंदूक दे रहे हैं। हम उनके हाथों में कलम देना चाहते हैं। नक्सलवादियों के बड़े नेता ऐसो आराम से जी रहे हैं। सभी राज्यों में सरेंडर की नीति है वो सरेंडर करें। नक्सलवादी नेताओं से कहना चाहता हूं गरीबों के बच्चों के हाथों में बंदूक ना रखो। उन्हें गुमराह मत करो।
.
इन योजनाओं का हुआ शिलान्यास
-1304 करोड़ की 24 सड़कों की नींव रखी गई।
-139 करोड़ से बनने वाली 72 ग्रामीण सड़कों का शिलान्यास हुआ।
-5481 किमी सड़क एक साथ बनाना शुरू करेगा पथ निर्माण विभाग।
-15.92 करोड़ की पेयजल आपूर्ति की तीन योजनाओं की शुरुआत हुई।
-5463 करोड़ की स्वास्थ्य सेवा की 55 योजनाएं शुरू हुई।
-10 करोड़ की 100 सोलर वाटर पेयजल आपूर्ति योजना शुरू हुई।
-18.52 करोड़ से जामताड़ा में बनने वाले केंद्रीय विद्यालय की नींव रखी गई।
-33 करोड़की ब्लॉक सह अंचल कार्यालय भवन और पुल-पुलिया की नौ योजनाओं का भी शिलान्यास किया गया।
-1200 करोड़ की दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत 10 योजनाएं शुरू हुई। सभी का शिलान्यास और उद्घाटन राजनाथ सिंह और रघुवर दास संयुक्त रूप से किया।

No comments:

Post a Comment