14 साल में सबसे खराब रहा रिजल्ट, 1.73 लाख बच्चे फेल - Live Now 24x7

खबरें जो सच बोले

Breaking

Wednesday, 13 June 2018

14 साल में सबसे खराब रहा रिजल्ट, 1.73 लाख बच्चे फेल





राज्य ब्यूरो, रांची : झारखंड एकेडमिक काउंसिल (जैक) ने मंगलवार को मैटिक- 2018 का परिणाम जारी कर दिया। इंटरमीडिएट साइंस के बाद इस परीक्षा का भी परिणाम हताश करनेवाला है। परिणाम में भारी गिरावट दर्ज की गई है। हालांकि इस बार धनबाद जिले का रिजल्ट सुधरा है। पिछले साल 12वें स्थान के मुकाबले इस बार सातवें नंबर पर है। 1इस बार महज 59.48 फीसद बच्चे पास हुए हैं जो 14 साल का सबसे खराब रिजल्ट है। पिछले साल 67.83 फीसद बच्चे सफल हुए थे। इस लिहाज से पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष परिणाम में 8.35 फीसद की गिरावट आई। पिछले सात साल में इतनी अधिक गिरावट कभी नहीं हुई थी। लातेहार स्थित नेतरहाट आवासीय विद्यालय के छात्र तुषार रंजन स्टेट टॉपर घोषित हुए हैं। इन्हें 500 में 488 अंक मिले हैं। दूसरे नंबर पर इसी स्कूल के अमित कुमार रहे। इंदिरा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय की अमीषा कुमारी 486 अंकों के साथ राज्य में तीसरे स्थान पर रही। 1परीक्षा में शामिल 4 लाख 28 हजार 389 विद्यार्थियों में 1 लाख 73 हजार 559 विद्यार्थी फेल हो गए। छात्रों का रिजल्ट 61.79 फीसद रहा, जबकि 57.29 फीसद छात्रएं पास हुईं।1राज्य ब्यूरो, रांची : झारखंड एकेडमिक काउंसिल (जैक) ने मंगलवार को मैटिक- 2018 का परिणाम जारी कर दिया। इंटरमीडिएट साइंस के बाद इस परीक्षा का भी परिणाम हताश करनेवाला है। परिणाम में भारी गिरावट दर्ज की गई है। हालांकि इस बार धनबाद जिले का रिजल्ट सुधरा है। पिछले साल 12वें स्थान के मुकाबले इस बार सातवें नंबर पर है। 1इस बार महज 59.48 फीसद बच्चे पास हुए हैं जो 14 साल का सबसे खराब रिजल्ट है। पिछले साल 67.83 फीसद बच्चे सफल हुए थे। इस लिहाज से पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष परिणाम में 8.35 फीसद की गिरावट आई। पिछले सात साल में इतनी अधिक गिरावट कभी नहीं हुई थी। लातेहार स्थित नेतरहाट आवासीय विद्यालय के छात्र तुषार रंजन स्टेट टॉपर घोषित हुए हैं। इन्हें 500 में 488 अंक मिले हैं। दूसरे नंबर पर इसी स्कूल के अमित कुमार रहे। इंदिरा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय की अमीषा कुमारी 486 अंकों के साथ राज्य में तीसरे स्थान पर रही। 1परीक्षा में शामिल 4 लाख 28 हजार 389 विद्यार्थियों में 1 लाख 73 हजार 559 विद्यार्थी फेल हो गए। छात्रों का रिजल्ट 61.79 फीसद रहा, जबकि 57.29 फीसद छात्रएं पास हुईं।1

No comments:

Post a Comment