गिरिडीह: जब्त सरकारी अनाज लदे ट्रक को मैनेज करने में लगी थी पुलिस, ग्रामीणों ने खेल बिगाड़ा

Giridih: कालाबाजारी के लिए जा रहे 477 बोरे में 260 क्विंटल चावल को ग्रामीणों ने पकड़ कर गिरिडीह के धनवार के घोड़थंबा पुलिस को सौंपा. लेकिन घोड़थंबा पुलिस और एमओ भी कालाबाजारियों के खिलाफ कार्रवाई के बजाय मामले को दबाने में जुट गए. इस दौरान ग्रामीणों ने जब हंगामा करते हुए घोड़थंबा मेन रोड को … The post गिरिडीह: जब्त सरकारी अनाज लदे ट्रक को मैनेज करने में लगी थी पुलिस, ग्रामीणों ने खेल बिगाड़ा appeared first on NEWSWING.

Giridih: कालाबाजारी के लिए जा रहे 477 बोरे में 260 क्विंटल चावल को ग्रामीणों ने पकड़ कर गिरिडीह के धनवार के घोड़थंबा पुलिस को सौंपा. लेकिन घोड़थंबा पुलिस और एमओ भी कालाबाजारियों के खिलाफ कार्रवाई के बजाय मामले को दबाने में जुट गए. इस दौरान ग्रामीणों ने जब हंगामा करते हुए घोड़थंबा मेन रोड को जाम कर दिया.

मामले की जानकारी मिलने के बाद धनवार एसडीएम धीरेन्द्र सिंह और एसडीएम मुकेश महतो भी पहुंचे और ग्रामीणों से बात कर उन्हें दोषियों को चिन्हित कर कार्रवाई का भरोसा दिया. तब जाकर ग्रामीणों ने सड़क जाम हटाया.

वैसे धनवार एसडीएम ने जब जांच किया, तो एमओ की भूमिका को भी संदिग्ध पाया. क्योंकि एसडीएम धीरेन्द्र सिंह ने साफ तौर पर कहा कि कालाबाजारी के लिए ले जाया 477 बोरे में 260 क्विंटल चावल जनवितरण प्रणाली केन्द्र का ही है. लिहाजा, चावल से लोड ट्रक को एसडीएम के निर्देश पर पुलिस ने जब्त कर लिया. और बिहार शरीफ के गिरफ्तार ट्रक चालक गोरेलाल यादव और सह चालक रंजीत यादव से पूछताछ की जा रही है.

पूछताछ में दोनों ने एसडीएम को जानकारी देते हुए बताया कि चावल लोड ट्रक धनवार के चेतलाल साव एंड संस इंटरप्राइजेज से बिहार पहुंचाया जाना था. लेकिन इतने बड़े पैमाने पर चावल का स्टॉक चेतलाल साव को कहां से मिला, फिलहाल इसकी जांच की जा रही है.