देवघर: हेमंत हटाओ झारखंड बचाओ अभियान को लेकर भाजपा का आक्रोश प्रदर्शन

Deoghar: भाजपा के पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत बुधवार को हेमंत हटाओ, झारखंड बचाओ अभियान को लेकर जिला मुख्यालयों में सरकार के खिलाफ आक्रोश प्रदर्शन किया. देवघर के शिवलोक परिसर मैदान से भाजपा कार्यकर्ता जुलूस की शक्ल में समाहरणालय के समक्ष पहुंच कर सड़क पर सभा में तब्दील हो गई. रैली सह प्रदर्शन का नेतृत्व … The post देवघर: हेमंत हटाओ झारखंड बचाओ अभियान को लेकर भाजपा का आक्रोश प्रदर्शन appeared first on NEWSWING.

देवघर: हेमंत हटाओ झारखंड बचाओ अभियान को लेकर भाजपा का आक्रोश प्रदर्शन

Deoghar: भाजपा के पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत बुधवार को हेमंत हटाओ, झारखंड बचाओ अभियान को लेकर जिला मुख्यालयों में सरकार के खिलाफ आक्रोश प्रदर्शन किया. देवघर के शिवलोक परिसर मैदान से भाजपा कार्यकर्ता जुलूस की शक्ल में समाहरणालय के समक्ष पहुंच कर सड़क पर सभा में तब्दील हो गई. रैली सह प्रदर्शन का नेतृत्व जिला अध्यक्ष सह विधायक नारायण दास कर रहे थे. इस दौरान मुख्य अतिथि के रूप चतरा के सांसद सुनील सिंह उपस्थित थे.

मौके पर चतरा के सासंद सुनील सिंह ने कहा कि राज्य सरकार ने जो वादा किया उसपर तीन साल में भी अमल नहीं हुआ. राज्य में किसान, युवा, बेरोजगार, महिला, छात्र, व्यापारी, जनता सभी नाराज हैं. हेमंत सोरेन सरकार ने किसानों को मिलने वाली राशि बंद कर दी. किसान त्राहिमाम कर रहे हैं. राज्य में बेटियों के साथ अत्याचार हो रहा है और अपराधियों का बोलबाला है. फिलहाल राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति बदतर है.

सरकार के करनी और कथनी में अंतर है. इनके कुछ नेता कंस की भाषा सीख ली है. बीजेपी के एक-एक कार्यकर्ता इस सरकार के अन्याय के खिलाफ संघर्ष करते रहेंगे. उन्होंने कहा कि देवघर शिव की आराधना की धरती है. यह देवभूमि देश व विश्व की आशंका का परिचायक है. हम भाजपा कार्यकर्ता सरकार से लड़ने के लिए तैयार हैं और शीघ्र यह सरकार जाने वाली है. इस सरकार में काम नहीं केवल भाषण होता है. स्थानीय सांसद निशिकांत दुबे की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि उनसे मुझे जलन होती है, जो काम हम लोग नहीं करा पाते हैं वह करवा लेते हैं. आज गिट्टी बालू की समस्या से पूरा झारखंड बेहाल है. राज्य में बेहतर काम करने वाले अधिकारियों को बदल दिया जा रहा है. हेमंत राज में कोयला, गिट्टी व बालू बेचने का कारोबार हुआ है. उन्होंने हेमंत पर पलटवार करते हुए कहा कि अगर आपके पास जवाब होता तो 10 घंटे तक ईडी आपको क्यों बैठाने की जरूरत करती. यह सब जानते हैं कि चुनाव का अलग अकाउंट व चेक बुक होता है. मुख्यमंत्री को चुनौती देते हुए कहा कि अगर हेमंत सोरेन में हिम्मत है तो हम लोगों को बुलाकर दिखाओ मिनट भर भी आने में देरी नहीं करेंगे और आरोप सिद्ध हुआ तो राजनीति छोड़ देंगे. हमारे नेताओं ने देश के लिए आहूति दी है. जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाया गया व अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण किया गया किया जा रहा है. झारखंड की देवभूमि देवघर में केंद्र के पैसे से बनने वाले क्यू कंपलेक्स का काम अब तक अधूरा पड़ा हुआ क्यों है. देवघर देश की धड़कन देश की अस्मिता का परिचायक है. दिल्ली से देवघर आने वाली फ्लाइट देवघर के बारे में जानने के लिए लोगों से खचाखच भरी हुई है रहती है. झारखंड सरकार आरक्षण के नाम पर दो रंगी नीति अपना रही है. अगर सरकार को आरक्षण देना होता तो राज्य में पंचायत चुनाव हो गए अब नगर निकाय चुनाव होने जा रहा है तब भी आरक्षण तय नहीं किया जा सका है. ऐसा इसलिए किया गया है कि यह मामला कोर्ट में जाए और ध्वस्त हो जाए जिससे चुनाव नहीं हो सके. राज्य में अवैध खनन व कारोबार पर केंद्र सरकार नकल नकेल कस रही है तो हेमंत सोरेन बोलते हैं कि केंद्र सरकार परेशान कर रही है. चतरा सांसद ने राज्य के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख व सूबे के पर्यटन मंत्री हफीजुल हसन का जिक्र करते हुए कहे कि यहां से आने वाले राज्य के कृषि मंत्री ने किसान आंदोलन के दौरान दिल्ली में जाकर पानी पिलाने का काम किया. उन्होंने यहां के किसानों को तो पानी पिला कर रख दिया है. पर्यटन के क्षेत्र में भी कुछ नहीं हुआ है मेरे लोकसभा क्षेत्र में नेतरहाट के लिए केंद्र सरकार ने 55 करोड़ दिया है और 12 करोड़ खर्च हो चुके हैं. इसका जवाब भी नहीं देना चाह रहे हैं. रॉयल्टी का बकाया नहीं देने की बात करने वाले राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन व उनकी सरकार में शामिल पार्टी को यह क्यों नहीं दिखता की जब केंद्र में शिबू सोरेन कोयला मंत्री थे तो रॉयल्टी का बकाया क्यों नहीं दिया गया था. झारखंड सरकार भांति भांति का रंग बदल कर जनता को ठगने का काम कर रही है. आरजेडी के संपर्क में रहकर यह सरकार जेल में कैसे जिंदा रह जाता है वह सीख रही है. आरजेडी को जेल में जिंदा रहने का लंबा अनुभव है. उन्होंने राज्य सरकार को चुनौती दी थी अगर हिम्मत है तो भाजपा कार्यकर्ताओं को रोक के देखो दिखाओ.

झारखंड राज्य संघर्ष के बाद बना है इसे लूटने नहीं देंगेः नारायण

मौके पर नारायण दास ने कहा कि राज्य की जनता त्राहिमाम कर रही है. पूरे राज्य में भ्रष्टाचार फैला हुआ है. सरकार को गद्दी पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है. भाजपा जबतक इस सरकार को उखाड़ नहीं फेंकती, तब तक चैन से नहीं बैठेगी. हेमंत सरकार भ्रष्टाचार का पर्याय बन चुकी है. सरकार को जनता ने विकास के लिए जनादेश दिया था, लेकिन यह सरकार राज्य को विनाश की ओर ले कर जा रही है. विपक्ष होने के नाते हम अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं. झारखंड राज्य संघर्ष के बाद बना है. जब-जब राज्य में एनडीए की सरकार रही राज्य का तेजी से विकास हुआ. लेकिन, यूपीए की सरकार बनते ही राज्य लूट का अडडा बन गया. राज्य के प्राकृतिक व खनिज संपदाओं से खिलवाड़ हो रहा है. बिना अनुमति के खनिज संपदाओं को दूसरे राज्य भेजा जा रहा है. राज्य में माफिया लोग मिलकर सरकार चला रहे हैं. केंद्र सरकार आम जनता को हक व अधिकार देने में लगी है लेकिन, राज्य सरकार इसे अनदेखी कर रही है.

राज्य में तीन साल से लूट-खसोट की सरकार हैः रंधीर

सारठ के भाजपा विधायक सह फायर ब्रांड नेता रंधीर सिंह ने कहा कि राज्य में तीन साल से लूट-खसोट की सरकार चल रही है. झूठ बोलकर सरकार बना लिया गया. राज्य सरकार हर क्षेत्र में फेल हुई है. यह घोटाले की सरकार है इसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. पूरे राज्य में महिलाओं पर अत्याचार हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि जनता आक्रोशित है और राज्य सरकार को उखाड़ फेंकेगी. राज्य में आलम यह हो गया कि यहां बिना घूस के कोई काम नहीं हो रहा है. साहिबगंज से लेकर देवघर सहित पूरे झारखंड तक बालू के नाम पर लूट मची है. गठबंधन सरकार को चलाने वाले हेमंत सोरेन के नेतृत्व में झारखंड में सबसे अधिक आदिवासी बहन-बेटियों पर अत्याचार हुआ है. फिलहाल चारों ओर भ्रष्टाचार का राज है. झारखंड की जनता अब जाग चुकी है और प्रखंड से लेकर जिले तक पूरे झारखंड में सरकार के खिलाफ जन आक्रोश दिख रहा है.

राज्य सरकार भ्रष्टाचार की गंगोत्री में हाथ धो रही हैंः गंगा

मौके पर मधुपुर विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी गंगा नारायण सिंह ने कहा कि राज्य सरकार और सरकार में शामिल मंत्री भ्रष्टाचार की गंगोत्री में हाथ धो रहे हैं. यह ज्यादा दिनों तक चलने वाला नहीं है. उन्होंने कहा झारखंड के इतिहास में यह पहली घटना घटी जहां मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए हेमंत सोरेन को ईडी के समझ पेश होना पड़ा. यह दर्शाता है कि राज्य के मुख्यमंत्री, मंत्री व अधिकारियों को ईडी दफ्तर व जेल का चक्कर काटना पड़ रहा है. हम भाजपा कार्यकर्ता झारखंड की अस्मिता को मिटाने नहीं देगें और मरते दम तक संघर्ष कर इस भ्रष्ट सरकार की पोल खोलते रहेंगे.

इसे भी पढ़ें: झारखंड कैबिनेट की बैठक अब 1 दिसंबर को

The post देवघर: हेमंत हटाओ झारखंड बचाओ अभियान को लेकर भाजपा का आक्रोश प्रदर्शन appeared first on NEWSWING.