Chakradharpur : सोनुआ पुलिस ने अवैध बालू लदे तीन वाहनों को किया जब्त, एसपी बोले-मामले की जांच कर होगी कार्रवाई

Chakradharpur : झारखंड में एनजीटी की रोक हटते ही बालू माफिया फिर से सक्रिय हो गए हैं. पश्चिमी सिंहभूम जिला के गोइलकेरा के भरडीहा, दलकी और पोकाम स्थित बालू घाटों से अवैध रूप से बालू खनन कर इसका परिवहन कर रहे हैं. इस का एक ताजा उदाहरण रविवार को सोनुआ में देखने को मिला जब … The post Chakradharpur : सोनुआ पुलिस ने अवैध बालू लदे तीन वाहनों को किया जब्त, एसपी बोले-मामले की जांच कर होगी कार्रवाई appeared first on NEWSWING.

Chakradharpur : सोनुआ पुलिस ने अवैध बालू लदे तीन वाहनों को किया जब्त, एसपी बोले-मामले की जांच कर होगी कार्रवाई

Chakradharpur : झारखंड में एनजीटी की रोक हटते ही बालू माफिया फिर से सक्रिय हो गए हैं. पश्चिमी सिंहभूम जिला के गोइलकेरा के भरडीहा, दलकी और पोकाम स्थित बालू घाटों से अवैध रूप से बालू खनन कर इसका परिवहन कर रहे हैं. इस का एक ताजा उदाहरण रविवार को सोनुआ में देखने को मिला जब सोनुआ पुलिस ने गुप्त सूचना पर ऐसे ही अवैध बालू लदे तीन वाहनों को जब्त किया है. इनमें दो हाइवा और एक डंपर है. इसकी सूचना जिला खनन विभाग को दी गई है. खनन विभाग मामले की जांच कर अग्रेतर कार्रवाई करेगी. बताया जा रहा है कि पकड़े गए वाहन चक्रधरपुर के बालू माफियाओं के हैं जो रात के अंधेरे में ओड़िशा का चालान दिखाकर गोइलकेरा स्थित कोयल नदी से बालू का अवैध खनन और परिवहन करते हैं. बता दें कि 15 अक्टूबर तक नदियों से बालू खनन पर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने रोक लगा रखा था. रोक हटते ही बालू माफिया पुलिस और खनन विभाग की आंखों में धूल झोंककर बालू के अवैध खनन में जुट गए हैं जिन घाटों का टेंडर नहीं हुआ है वहां भी धड़ल्ले से बालू का अवैध खनन किया जा रहा है. जिले के पुलिस अधीक्षक आशुतोष शेखर ने बताया कि बालू लदे वाहनों के पकड़े जाने की जानकारी अभी थाने से नहीं मिली है. मामले की जानकारी लेकर उचित कार्रवाई की जाएगी.

ओवरलोड ट्रकों के कारण सड़कें भी हो रही खराब

बालू लदे वाहनों के अंधाधुंध परिवहन के कारण गोइलकेरा-मनोहरपुर और गोइलकेरा-चक्रधरपुर सड़क की हालत खस्ता होती जा रही है. गोइलकेरा-मनोहरपुर के बीच सड़क जर्जर हालत में है. हाइवा वाहनों में ओवरलोड से सड़कों की दशा बिगड़ी है.

नेताओं के संरक्षण में चल रहा अवैध बालू का धंधा

अवैध बालू का धंधा नेताओं के संरक्षण में चल रहा है. बालू माफिया राजनीतिक दलों का चोला ओढ़कर अपने मंसूबों को अंजाम दे रहे हैं. राजनीति का ककहरा तक नहीं जानने वाले भी सत्ताधारी दल के नेताओं से नजदीकी बढ़ाकर बालू के खेल में शामिल हैं. विभागीय अधिकारियों से सांठगांठ कर नदियों के आसपास स्टॉक यार्ड बनाया गया है. वहीं नीलामी में बालू खरीदकर चालान हासिल किया जाता है. जिसका प्रयोग अवैध बालू के परिवहन में महीनों तक होता है.

The post Chakradharpur : सोनुआ पुलिस ने अवैध बालू लदे तीन वाहनों को किया जब्त, एसपी बोले-मामले की जांच कर होगी कार्रवाई appeared first on NEWSWING.